कैसे पाएँ गड़ा हुआ धन

कैसे पाएँ गड़ा हुआ धन blog written by Dr. Jitendra Vyas

gada dhan pic

गड़ा धन

आज मैंने उन सभी पाठकों और मेरे अनुयाइयों के लिए इस blog में “जमीन में गड़े धन की प्राप्ति के योगों और प्राप्ति के उपायों” की भरपूर प्रासंगिक चर्चा की है । आइये जानते हैं, गड़े धन व गुप्त धन से जुड़े प्रासंगिक एवं संदर्भित तथ्य । गड़ा खजाना/धन सिर्फ उसे ही मिलता है जिसके योग हैं,या फिर पूर्वज कहीं न कहीं उसके लिए खजाना छोड़कर गए हैं। यदि आपको यह पता चले कि अमुक भूमि के नीचे खजाना है तो भी आप उसे हासिल नहीं कर सकते जब तक की आपकी कुण्डली में योग न हो तब तक नहीं मिल सकता । उक्त खजाने को निकालने की पूजा विधि भी होती है ।यह जानना जरूरी है कि जो व्यक्ति खजाने की खोज में निकला है हो सकता है कि उसकी किस्मत में खजाना न हो?

  1. जब जातक के जन्माङ्ग चक्र में लग्नेश धन भाव में हो, धनेश एकादश भाव में हो और लाभेश लग्न में तो जातक को जमीन में गड़े धन की अकस्मात प्राप्ति होती है । यथा

लग्नेशे धनराशिस्ये धनेशे लाभराशिगे ।

   लाभेशे च विलग्नस्थे, निध्यादधिनमाप्नुयात् ॥

  1. या फिर “कोशेशे रंध्रनिध्याप्ति” धन स्थान का स्वामी यदि अष्टम भाव में हो और सूर्य लग्न में हो तो ऐसे जातक को भूमि में गड़ा धन की प्राप्ति अवश्य होती है, तो ऐसे योगों वाले जातकों को विज्ञ ज्योतिर्विद से परामर्श लेकर शोधन कार्य की तरफ प्रवृत्त हों, निश्चय ही धन मिलेगा ।
  2. यदि षडबली बृहस्पति लग्न में हो, चतुर्तेश, षष्ठेश एवं लाभेश धन भाव में हो तो ऐसे जातक को गडे हुए धन की प्राप्ति होती है ।
  3. किसी जातक की जन्म कुण्डली में यदि चन्द्रमा ग्रह बृहस्पति के स्वामी भाव में युग्म में स्थित हो तो ऐसे जातक को गडे हुए धन की प्राप्ति होती है।
  4. यदि अष्टम भाव का मालिक उच्च का हों तथा धनेश व लाभेश के प्रभाव में हों तो व्यक्ति को निश्चित रूप में अचानक धन लाभ होता हैं।
  5. सूखेश धन स्थान में हो, चंद्रमा एवं मंगल धन स्थान में हो और धनेश दिग्बली हो तो ऐसे जातक को गडे हुए धन की प्राप्ति होती है।
  6. सूखेश एवं लाभेश नवम भाव में हो तथा मंगल से दृष्ट हो तो गुप्त धन की प्राप्ति संभव है,पूर्व समय में इस योग को गढे धन प्राप्‍ति के लिये अहम माना जाता था। इस योग की खासियत होती हैं कि ये अचानक प्राप्त होता है।
  7. जातक के हाथ में उसकी मस्तिष्क रेखा सही स्थिति में हो यानी कि टूटी या कटी हुई नहीं हो। साथ ही भाग्य रेखा की एक शाखा जीवन रेखा से निकलती हो। हथेलियां गुलाबी व मांसल हो तो करोड़ों में संपदा होने का योग बनता है।
  8. रावण संहिता के अनुसार सपने, शकुन और स्वर विज्ञान के माध्यम से व्यक्ति को यह संकेत अपने सपने में देखें की वह कमल के पत्ते पर स्वयं को भोजन कर रहा है तो ये भी इस बात का संकेत है कि आपको भविष्य में कहीं से  मिल सकता है। कुछ लोगों को सपने में अक्सर सफेद सांप या जलता हुआ दीपक दिखाई देता है। इसका मतलब यह कि उनके लिए को खजाना गाड़ कर गया है, जो संकेत दे रहा है। ऐसी संभावना होती है कि आपके पितरों ने सफेद नाग के रुप में दर्शन देकर उस जगह का पता बताया है जहां उन्होने आपके लिए धन गाड़ कर रखा होगा। ये सफेद नाग रुपी पितर उस खजाने की रक्षा करते रहते हैं।
  9. यदि कोई सपने में देखे कि उस पर कानूनी मुकदमा चलाया जा रहा है, जिसमें वह निर्दोष छूट गया है, तो उसे अतुल धन संपदा की प्राप्ति होती है।
  10. कहीं जाते समय नेवले द्वारा रास्ता काटना या नेवले का दिखना शुभ संकेत होता है। नेवला दिखना धन लाभ का संकेत होता है। आप सोकर उठे हों और उसी समय नेवला आपको दिख जाए तो गुप्त धन मिलने की संभावना रहती है।

गुप्त धन प्राप्ति के लिए गुरुमुख से यह मंत्र “ॐ ह्रीं पद्मावति देवी त्रैलोक्यवार्ता कथय कथय ह्रीं स्वाहा” प्राप्त कर, इसे को रात्रि में सोने से पूर्व एक माला रोज जपे। कुछ दिनों बाद गड़ा धन कहां है इसकी आपको स्वप्न में जानकारी मिल जाएगी।

यदि आपको ऐसा लगता है कि किसी स्थान पर धन गढ़ा हुआ है और आप वह धन प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए मंत्र है मंत्र: “ऊं नमो विघ्नविनाशाय निधि दर्शन कुरु कुरु स्वाहा”इसे दस हजार बार विधिवत जपने के बाद किसी जानकार से उक्त भूमि की शुद्धि करायी जाती है और वहां से सभी तरह की आपदा को हटाया जाता है। लेकिन यदि जानकार सही नहीं है तो इसके दुष्‍परिणाम भी भुगतने होते हैं।

ज़्यादातर जानबूझकर छिपाकर रखे गए अधिकतर धन के भंडार को मंत्रों से बांधा गया है। ऐसे धन को प्राप्त करने के लिए किसी जानकार से उक्त मंत्रों को जानकर ही उस खजाने को पाया जा सकता है। कहते हैं ऐसे कुछ बंधन के रक्षक कोई भूत या प्रेत भी हो सकते हैं। खजाने के मालिक किसी जानकार से जमीन में गाड़ने के बाद उस जमीन के आस-पास तंत्र-मंत्र द्वारा ‘नाग की चौकी’ या ‘भूत की चौकी’ बिठा देते थे। हालांकि ऐसे धन को प्राप्त करना खतरनाक होता है।

नोट :- यहाँ सभी उपायों की चर्चा संभव नहीं है, किसी भी प्रकार जे परामर्श के लिए आप मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं।

Blog 119, Date: 15/6/2018

for any query and Pooja/Pratishthan contact me

Contact: 9928391270,

info@drjitendraastro.com, www.drjitendraastro.com

 

Leave a Reply